Business ideas: गाँव या शहर में मात्र 4 घंटे काम कर के कमा रहे 50000 रु.

Business ideas: मोहन, जो मात्र 22 साल के कॉलेज स्टूडेंट हैं, उन्होंने दिखा दिया कि खेती के छोटे काम भी बड़ा मुनाफा दे सकते हैं! मोहन महीने के 50000 रुपये से ज़्यादा कमाते हैं केंचुए खाद बनाने के अपने धंधे से। उनकी कहानी ये बताती है कि सही जानकारी और बिज़नेस की समझ हो तो खेती में कम लागत में ज़बरदस्त कमाई की जा सकती है।

Also Read:

Business ideas: Organic vermicomposting

मूल रूप से किसान परिवार से आने वाले मोहन को पढ़ाई के दौरान खेती से जुड़े नए बिज़नेस आइडिया ढूंढने का शौक था। उन्होंने खूब खोज की और उन्हें केंचुए खाद के वीडियो बहुत दिलचस्प लगे, जिनमें कम लागत में ज़्यादा मुनाफा दिखाया जा रहा था। जुलाई 2021 में मोहन ने खुद 6 क्यारी बनाकर ट्रायल किया और सफलता देखकर उन्होंने बड़े पैमाने पर खाद बनाना शुरू करने का फैसला किया, वो भी पढ़ाई जारी रखते हुए।

एक साल के अंदर ही मोहन ने अपने परिवार के 70 बीघा खेत में बड़े पैमाने पर काम शुरू कर दिया। अब उनके पास 1 बीघा ज़मीन पर ही 70 क्यारी चल रही हैं, जो सालाना 16,000 किलो से ज़्यादा खाद बनाती हैं। सरल तरीका और कम मेहनत की ज़रूरत होने से मोहन आसानी से दोनों, पढ़ाई और बिज़नेस, सँभाल लेते हैं।

इतनी आती है लागत और मुनाफा

केंचुए खाद बनाने में दूसरी खेती या मैन्युफैक्चरिंग के धंधों के मुकाबले बहुत कम पैसे लगते हैं। मोहन ने सिर्फ 1 लाख रुपये में ही शुरुआत की थी, जिसमें क्यारियां बनाने के लिए ज़रूरी सामान, जाल, और सिंचाई का इंतज़ाम शामिल था।

काम शुरू होने के बाद खर्च का मुख्य हिस्सा कच्चे माल (गोबर और केंचुए), मजदूरी, बिजली, और पैकेजिंग में होता है। हर क्यारी में गोबर और केंचुओं के लिए करीब 1,500 रुपये लगते हैं, जो 3 महीने के चक्र में 650-700 किलो खाद बनाते हैं। मजदूरी के लिए हर क्यारी में करीब 300 रुपये लगते हैं। पैकेजिंग और बिजली का खर्च करीब 400 रुपये बढ़ा देता है।

इस तरह, 3 महीने के चक्र में हर क्यारी पर कुल खर्च करीब 2,200 रुपये होता है। लेकिन हर क्यारी से 650-700 किलो खाद मिलती है, जिसे वो 15 रुपये किलो बेचते हैं। यानी एक क्यारी से 3 महीने में कमाई होती है 9,750 रुपये से 10,500 रुपये तक। इसका मतलब है कि हर 3 महीने में हर क्यारी पर 75% से ज़्यादा का मुनाफा होता है!

कड़ी मेहनत, बुद्धि से बन रहे हैं लाखों

मोहन के सफल खाद कारोबार का राज ज़्यादातर मेहनत कम करने के तरीकों में छुपा है। छोटे-छोटे बदलावों से ही मुनाफा कई गुना बढ़ गया है। जैसे, गाड़ी से सीधे क्यारियों में गोबर डालने से हाथ से लाने-ले जाने का समय बचता है। 15 मिनट में ऑटोमेटिक सिंचाई सब क्यारियों को सींच देती है, जबकि हाथ से तो घंटों लगते थे।

मिलने वाली खाद की पैकेजिंग को और आसान बनाने में भी मोहन ने दिमाग लगाया है। भले ही 50 किलो के बैग में ज़्यादा खाद आती है, लेकिन किसानों के लिए 40 किलो के बैग उठाना ज़्यादा आसान है। 300 रुपये का बिल किसानों को रासायनिक खाद से सस्ती लगती है।

ज़िंदगी भर के ग्राहक, बढ़ता मुनाफा

नियमित ग्राहक ढूंढना कारोबार बढ़ाने के लिए ज़रूरी है। मोहन ने मार्केटिंग का ज़ोर उन किसानों पर लगाया जिन्हें साल भर खाद की ज़रूरत होती है। अखबारों और पर्चियों में ज़बरदस्त विज्ञापन से उनके 100 से ज़्यादा ग्राहक बन गए।

खुशहाल ग्राहकों ने मुंह-बोली-बात से और लोगों को खींचा। मोहन ने किसानों की ज़रूरत के हिसाब से खाद की कीमत और पैकेजिंग तय की। अपनी ज़मीनी हकीकत से जुड़े मार्केटिंग और लगातार अच्छी क्वालिटी के ज़रिए मोहन ग्राहकों को ज़िंदगी भर अपने साथ रखते हैं।

आप भी ये कर सकते है

बड़े-बड़े खेती के नेटवर्कों से जुड़कर मोहन अपने ग्राहक बढ़ाना चाहते हैं। ज़रूरत के हिसाब से वो खाद बनाने की क्षमता बढ़ाएंगे, लेकिन ध्यान रखेंगे कि लागत ज़्यादा ना हो। काम ज़्यादा होने पर छोटे-मोटे काम ऑटोमेटिक करने से मजदूरों की ज़रूरत भी कम होगी।

ज़बरदस्त मुनाफे और बढ़ती मांग को देखते हुए, मोहन एक दिन अपनी खाद विदेशों में भी भेजने का सोच रहे हैं। कम पैसे के निवेश से ही मोहन का कारोबार इतना फला-फूला है, जिसका श्रेय उनकी खोज, नए तरीकों और ग्राहक केंद्रित सोच को जाता है। उनकी कहानी उन सभी खेती के उद्यमियों के लिए प्रेरणा है जो आत्मनिर्भर और टिकाऊ कारोबार चलाना चाहते हैं।

Disclaimer

यह जो जानकारी हम आप तक पहुंचाते हैं, क्योंकि हमारा उद्देश्य आप तक योजनाओ की जानकारी, उनका स्टेटस एवं जारी लिस्ट को जान सकें एवं चेक कर पाए, लेकिन इस योजना से संबंधित अंतिम फैसला आपका ही अंतिम फैसला होगा, इसके लिए facttalk.in या हमारी कोई भी टीम का मेंबर जिम्मेदार नहीं होगा।

whatsapp group
WhatsApp Group (Join Now) Join Now
Telegram Group (Join Now) Join Now
सभी सरकारी योजना देखेंयहाँ क्लिक करें
वर्तमान भर्तिया देखेंयहाँ क्लिक करें
मुखपृष्ठयहाँ क्लिक करें

नमस्कार साथियों मेरा नाम पुनीत है, Facttalk.in वेबसाइट के माध्यम से आप सभी को नवीनतम सरकारी योजनाओ, भर्तियों, रिजल्ट एवं अन्य के बारे में मेरे द्वारा जानकारी उपलब्ध करवाई जा रही है | आशा है आप सभी को हमारे आर्टिकल पसंद आ रहे होंगे, घन्यवाद

2 thoughts on “Business ideas: गाँव या शहर में मात्र 4 घंटे काम कर के कमा रहे 50000 रु.”

Leave a comment