Business ideas: ऐसे आर्गेनिक आयल की बाज़ार में है डिमांड यहाँ देखें कैसे 2-8 लाख कमा रहे है

Business ideas: सरसों का तेल भारतीय खाने और घरेलू नुस्खों का राजा है। पहले तो बैलों की चक्की में पिस-पिसकर इसका तेल निकाला जाता था, जिसे कोल्हू कहते थे। पर अब ज़माना बदल गया है, बिजली की चक्कियां आ गई हैं, जो जल्दी और ज़्यादा तेल निकालती हैं। आज हम यही जानेंगे कि लकड़ी की घानी से सरसों का तेल बनाने का धंधा कैसे शुरू करें और कितना फायदा हो सकता है।

Also Read:

Business ideas: Organic oil

अच्छा तेल बनाने के लिए अच्छे बीज ज़रूरी हैं। फैक्टरी सीधे किसानों से या मंडियों से सरसों खरीदती है, ताकि मिलावट का डर न रहे और क्वालिटी अच्छी हो। स्थानीय बाज़ार से लेने में मिलावट और गंदगी का खतरा ज़्यादा होता है। राजस्थान में एक फैक्टरी 50 रुपये प्रति किलो के हिसाब से सरसों खरीदती है।

बीज खरीदने के बाद उन्हें साफ करना ज़रूरी होता है। मिट्टी, पत्थर, छिलके आदि निकालने के लिए एक ग्रेडिंग मशीन इस्तेमाल होती है। इस मशीन की कीमत 3-4 लाख रुपये तक होती है, और इसकी वजह से बीज साफ तो ज़रूर होते हैं, पर कचरे और मेहनत के कारण बीज का खर्च भी 10% बढ़ जाता है।

तेल निकालने के लिए सरसों का नमी वाला होना ज़रूरी है, 7 से 10% तक। इसके लिए बीजों में थोड़ा पानी मिलाया जाता है और एक यंत्र से नमी का स्तर नापा जाता है। तेल निकालने का सही तापमान 22 डिग्री सेल्सियस होता है।

इस तरह निकलता है आर्गेनिक आयल

पहले की कोल्हू विधि से सिर्फ 22% तेल निकलता था, पर लकड़ी की घानी मशीन 100 लीटर तेल रोज़ाना निकाल सकती है। बिजली से चलने वाली ठंडी घानी मशीनें तो और ज़्यादा कुशल हैं। ये मशीनें लोहे की दबाव वाली चक्की से बीजों को कुचलती हैं और तेल बर्तनों में टपकता है। बची हुई खली भी अलग निकलती है। इन मशीनों की कीमत 4 लाख रुपये तक होती है, पर ये एक दिन में 100 लीटर तेल निकाल सकती हैं, और कमरे के तापमान पर चलती हैं, जिससे तेल के पोषक तत्व बने रहते हैं।

निकाला हुआ तेल 2-3 दिन स्टील के टैंकों में रखा जाता है। गुरुत्वाकर्षण से धीरे-धीरे गंदगी नीचे बैठ जाती है और ऊपर साफ तेल तैरता है। फिर इस तेल को हाथ से भरकर खाने योग्य प्लास्टिक की बोतलों में पैक किया जाता है।

अब आगे जानते हैं कि इस धंधे में लागत क्या है और कितना मुनाफा हो सकता है!

इतनी लगती है लागत

100 लीटर तेल निकालने के लिए फैक्टरी 450 किलो सरसों खरीदती है, जिसकी कीमत करीब 24,000 रुपये होती है। मजदूरी, बिजली, पैकेजिंग आदि खर्च मिलाकर कुल लागत 26,000 रुपये तक पहुंच जाती है।

तेल को 250ml की प्लास्टिक की बोतलों में पैक किया जाता है। अच्छी दिखने वाली पैकेजिंग की कीमत लगभग 20 रुपये प्रति बोतल होती है। इस हिसाब से 1 लीटर सरसों का तेल बनाने की कुल लागत 260 रुपये के आसपास होती है।

कंपनी 250ml की बोतल को 50 रुपये में बेचती है। महीने में 1500-2000 लीटर तेल बिकता है, जिससे कमाई करीब 8 लाख रुपये होती है। कंपनी का ज़ोर अच्छी क्वालिटी के ज़रिए ग्राहकों का भरोसा जीतने पर है।

ऐसे कर सकते है मार्केटिंग

ठंड में निकाले गए तेल की मार्केटिंग में पैकेजिंग और ब्रांडिंग बहुत ज़रूरी है। कंपनी खाने के लिए सुरक्षित प्लास्टिक की बोतलों का इस्तेमाल करती है और उन पर आकर्षक लेबल लगाती है। परंपरागत तस्वीरों और ब्रांडिंग के ज़रिए कंपनी उन ग्राहकों से जुड़ती है जो असली चीज़ ढूंढ रहे हैं।

कंपनी पेड एडवरटाइजिंग के बजाय ज़्यादा ज़ोर मुंह-बोली-बात पर देती है। ग्राहकों का भरोसा बनाए रखने से वो बार-बार तेल खरीदते हैं और दूसरों को भी बताते हैं। इससे मार्केटिंग का खर्च कम रहता है, और साथ ही ज़्यादा लोगों तक पहुंचने में मदद मिलती है।

निष्कर्ष

लकड़ी की घानी से सरसों का तेल बनाने का धंधा शुरू करने के लिए मशीनों और पूंजी का अच्छा निवेश ज़रूरी है। अच्छी क्वालिटी का कच्चा माल और अच्छी पैकेजिंग से मुनाफा ज़्यादा होता है। ये एक हाई-वॉल्यूम धंधा है, जिसमें मशीनों का कुशलतापूर्वक इस्तेमाल ज़रूरी है। जुनून और मेहनत के साथ पुरानी पद्धति से तेल निकालने का ये काम आज भी मुनाफा दे सकता है।

Disclaimer

यह जो जानकारी हम आप तक पहुंचाते हैं, क्योंकि हमारा उद्देश्य आप तक योजनाओ की जानकारी, उनका स्टेटस एवं जारी लिस्ट को जान सकें एवं चेक कर पाए, लेकिन इस योजना से संबंधित अंतिम फैसला आपका ही अंतिम फैसला होगा, इसके लिए facttalk.in या हमारी कोई भी टीम का मेंबर जिम्मेदार नहीं होगा।

whatsapp group
WhatsApp Group (Join Now) Join Now
Telegram Group (Join Now) Join Now
सभी सरकारी योजना देखेंयहाँ क्लिक करें
वर्तमान भर्तिया देखेंयहाँ क्लिक करें
मुखपृष्ठयहाँ क्लिक करें

नमस्कार साथियों मेरा नाम पुनीत है, Facttalk.in वेबसाइट के माध्यम से आप सभी को नवीनतम सरकारी योजनाओ, भर्तियों, रिजल्ट एवं अन्य के बारे में मेरे द्वारा जानकारी उपलब्ध करवाई जा रही है | आशा है आप सभी को हमारे आर्टिकल पसंद आ रहे होंगे, घन्यवाद

Leave a comment