Business ideas: इस फ्रूट की बाज़ार में जबरदस्त डिमांड है, विदेश में इतनी मांग की थक जाओगे आर्डर लेते हुए

Business ideas: कमल फल, जिसे ड्रैगन फ्रूट भी कहते हैं, अपने अनोखे आकार, रंग और पोषक गुणों के लिए मशहूर होता जा रहा है। ये नए ज़माने का फल बागवानों और खाने वालों दोनों को खूब भा रहा है। पारंपरिक फसलों से कम मेहनत और ज़्यादा कमाई देने वाला कमल फल, अगर सही तरीके से उगाया जाए, तो टिकाऊ और लाभदायक खेती का ज़रिया बन सकता है।

Also Read:

Business ideas: आर्गेनिक ड्रैगन फ्रूट

मूल रूप से अमेरिका के गरम इलाकों का ये फल, अब एशिया के कई देशों में व्यापारिक रूप से उगाया जाता है। 2000 के दशक में भारत आया कमल फल, केरल, महाराष्ट्र, कर्नाटक और तेलंगाना जैसे राज्यों में खूब उगने लगा है। अभी बाज़ार में इसकी ज़रूरत इतनी ज़्यादा है कि पैदावार कम पड़ जाता है।

कृषि विशेषज्ञ डॉ. श्रीनिवास राव के मुताबिक, फल के आकार के हिसाब से इसकी कीमत 100 से 160 रुपये प्रति किलो तक होती है, जिससे एक एकड़ ज़मीन से सालाना 10-12 लाख रुपये का मुनाफा हो सकता है। ज़्यादा पैदावार और मार्केटिंग के साथ, कमल फल आने वाले समय में आम, केला जैसे आम फलों की तरह खूब खाया जाएगा।

जानते है इसे कैसे उगाएँ

कमल फल एक बेल वाला पौधा है, जिसे अच्छी बढ़त के लिए मज़बूत सहारे की ज़रूरत होती है। इसे उगाने के लिए ज़मीन थोड़ी ढालू होनी चाहिए ताकि पानी निकल सके। ज़रूरत हो तो, खेत में उचची क्यारियाँ बनाई जा सकती हैं। एक एकड़ में लगभग 2000 पौधे लगाने की सलाह दी जाती है, जिनके बीच 10 फीट और 8 फीट का अंतर होना चाहिए। अच्छी पैदावार के लिए टिश्यू कल्चर के पौधे लगाएँ, जो 60-70 रुपये प्रति पौधे मिलते हैं।

टपक सिंचाई और खरपत रोकने वाली चटाइयाँ इसकी देखभाल आसान बनाती हैं। एक एकड़ कमल फल उगाने के लिए शुरू में लगभग 3.5 लाख रुपये खर्च होते हैं।

कौन सी किस्म लगाये?

भले ही कमल फल की 100 से ज़्यादा किस्में हैं, व्यापारिक खेती के लिए ‘डेक्कन रेड’ या ‘अमेरिकन रेड’ सबसे अच्छी हैं। ये अपने आप परागण करती हैं और इनमें कई अच्छे गुण हैं। इनके फल बड़े (350 ग्राम), अंडाकार, चमकीले गुलाबी रंग के होते हैं।

इनका मीठा सफेद गूदा स्वादिष्ट होता है और एक एकड़ ज़मीन से 10 टन से ज़्यादा फल मिलते हैं। ये फल ज़्यादा गर्मी-सर्दी में भी खराब नहीं होते। खास बाज़ारों के लिए इज़राइल और दूसरे विदेशी किस्मों को भी उगाया जा सकता है।

खेती के तरीके

कमल फल का पौधा ज़्यादा पानी पसंद नहीं करता। अच्छा जल निकास, बारिश से बचाव के लिए छतरीनुमा ढाँचा और टपक सिंचाई ज़रूरी है। खाद और जैविक खाद से ज़मीन उपजाऊ बनती है। ये पौधा कम पानी में ही प्रकाश संश्लेषण करके ज़रूरी ऊर्जा बना लेता है, फिर भी फूल और फल अच्छे आने के लिए जैविक खाद देना ज़रूरी है।

फल देने की शुरुआत दूसरे साल में होती है। खेत का सही रख-रखाव करने से, तीसरे साल से फल ज़्यादा और कमाई भी बढ़ती है। ये पौधे 20 साल से ज़्यादा फल देते हैं।

ऐसे होगा कीट-पतंगों से बचाव

कमल फल में ज़्यादा कीट-पतंग या बीमारी नहीं लगती। कभी-कभार सफेद मक्खी, फल मक्खी या फफूंद लग सकती है, जिन्हें जैविक स्प्रे से आसानी से ठीक किया जा सकता है। खेत को साफ रखना और बीमार पौधों के हिस्से हटाना ज़रूरी है। ज़्यादातर मामलों में रासायनिक दवाओं की ज़रूरत नहीं होती।

कटाई के बाद

पक्के फलों को डंठल से काटकर तोड़ना चाहिए। मिठास के लिए 14-160 ब्रिक्स का कुल घुलनशील ठोस पदार्थ (टीएसएस) सही माना जाता है। कटाई के बाद ज़रूरी देखभाल करने और ठंडी सूखी जगह में रखने से ये ज़्यादा दिन टिकते हैं। अनुभवी कृषि सलाहकार ग्रेडिंग, पैकिंग और बिक्री के तरीके बेहतर बनाने में मदद कर सकते हैं।

बिक्री के तरीके

भारत में कमल फल अभी नया है, तो सुपर मार्केट में टुकड़े देकर खाने वालों को इसका स्वाद चखाना ज़रूरी है। दुकानों, फल विक्रेताओं और ऑनलाइन डिलीवरी प्लेटफॉर्म के साथ साझेदारी से भी बिक्री बढ़ाई जा सकती है। किसानों को विदेशी बाज़ारों में भी इसे भेजने की कोशिश करनी चाहिए।

LED लाइट का इस्तेमाल करके फूल लाने को बढ़ाया जा सकता है, जिससे साल में दो बार फल हो सकते हैं। ऑफ-सीज़न में फलों की कीमत और ज़्यादा होती है, जिससे किसानों की कमाई बढ़ती है।

निष्कर्ष

कमल फल की खेती के लिए ज़्यादा पैसे या मेहनत की ज़रूरत नहीं होती। ये ज़्यादा कीमत वाला फल है, जिससे 2-3 साल में ही मुनाफा होने लगता है और फिर साल-दर-साल कमाई होती रहती है। भारत का गरम मौसम इस फल के लिए बहुत अच्छा है, इसलिए पूरे देश में इसकी व्यापारिक खेती की काफी गुंजाइश है। अच्छी खेती के तरीके अपनाने और बिक्री के सही रास्ते तलाशने से कमल फल को मुख्य आम फलों की तरह लाभदायक बनाया जा सकता है।

Disclaimer

यह जो जानकारी हम आप तक पहुंचाते हैं, क्योंकि हमारा उद्देश्य आप तक योजनाओ की जानकारी, उनका स्टेटस एवं जारी लिस्ट को जान सकें एवं चेक कर पाए, लेकिन इस योजना से संबंधित अंतिम फैसला आपका ही अंतिम फैसला होगा, इसके लिए facttalk.in या हमारी कोई भी टीम का मेंबर जिम्मेदार नहीं होगा।

whatsapp group
WhatsApp Group (Join Now) Join Now
Telegram Group (Join Now) Join Now
सभी सरकारी योजना देखेंयहाँ क्लिक करें
वर्तमान भर्तिया देखेंयहाँ क्लिक करें
मुखपृष्ठयहाँ क्लिक करें

नमस्कार साथियों मेरा नाम पुनीत है, Facttalk.in वेबसाइट के माध्यम से आप सभी को नवीनतम सरकारी योजनाओ, भर्तियों, रिजल्ट एवं अन्य के बारे में मेरे द्वारा जानकारी उपलब्ध करवाई जा रही है | आशा है आप सभी को हमारे आर्टिकल पसंद आ रहे होंगे, घन्यवाद

2 thoughts on “Business ideas: इस फ्रूट की बाज़ार में जबरदस्त डिमांड है, विदेश में इतनी मांग की थक जाओगे आर्डर लेते हुए”

Leave a comment