Business ideas: क्या आपको पता है गाव में मिल रहे दूध से, 1 मशीन लगा कर 1200 रुपये किलो का आर्गेनिक घी कैसे बनाये

Business ideas: नमस्ते दोस्तों! किसी भी व्यक्ति के लिए जो दूध उत्पाद व्यापार शुरू करना या बढ़ाना चाहता है, एक क्रीम सेपरेटर मशीन में निवेश करना अत्यंत आवश्यक है। यह साधारण सी दिखने वाली मशीन दूध से आसानी से क्रीम निकालकर आपके व्यापार की तस्वीर बदल सकती है। आइए, आज इस जादुई मशीन के बारे में विस्तार से जानें और अपने दूध के कारोबार को नई ऊंचाइयों पर ले जाएं!

सबसे ज्यादा पढ़े जाने वाले आर्टिकल्स

🚀 Business ideas: इस मशीन से 1 कंपनी ने बनाये करोड़ो रुपये, खुद का लगाओ छोटा सेटअप कमाओ 2 लाख महीने के
🚀 Business idea: इस मशीन से बनाये खुद का ब्रांड, चाहे बेचे गाव में या शहर में, कमाए 1 लाख महीने के
🚀 Business ideas: ये मशीन बनाएगी मालामाल, मशीन 1 कमाई 2 तरह से, 1 लाख तक कमाए
🚀 Business ideas: गावं हो या शहर, जबरदस्त डिमांड के साथ कमाओ 60000 महीने का
🚀 Business ideas: हर महीने चलेगा ये बिज़नस, ऐसा सामान जो बिकता है हर जगह, महीने के ₹50000 आराम से कमाओ
🚀 Business idea: ये बिज़नस का भविष्य शानदार है, आज 180 में बनता है और 250 में बिकता है
🚀 Business ideas: इस काम को सभी हलके में लेते है, पर समझदार 80000 रुपये कमा लेता है
🚀 Business ideas: चुपचाप चला रहे छोटी सी जगह में बिज़नस, रोजाना कमा रहे है 3000 रुपये, अभी जाने
🚀 Business ideas: 4 तरह की मशीनो से कमाए महीने का 1 लाख आराम से, फिर मत कहना


Business ideas: Organic Cream Separator

क्रीम सेपरेटर एक ऐसी मशीन है जो तेज़ी से घूमती हुई दूध को दो हिस्सों में बांट देती है – कम मलाई वाला मलाई निकला दूध और ज़्यादा मलाई वाली क्रीम। यह काम कैसे होता है? आइए समझें-

  • कच्चे दूध को एक कटोरे में भरा जाता है, जो तेज़ गति से घूमता है (6000 से 10000 चक्कर प्रति मिनट)।
  • घूमने की इस तेज़ी की वजह से भारी मलाई निकला दूध कटोरे की दीवारों की तरफ चला जाता है।
  • हल्की क्रीम के कण बीच में रहते हैं और अलग नल से बाहर निकलते हैं।
  • अलग होने की सफलता दूध में मलाई की मात्रा, घूमने की गति, तापमान और समय पर निर्भर करती है।
  • ज़्यादातर मशीनें एक घंटे में 60 से 120 लीटर दूध अलग कर सकती हैं। बड़े कारोबारों के लिए 500 से 2000 लीटर/घंटा की क्षमता वाली मशीनें भी उपलब्ध हैं।

क्रीम सेपरेटर से दूध का पूरा इस्तेमाल!

सिर्फ कच्चा दूध बेचने से डेरी किसानों या दूध के कारोबारों को ज़्यादा मुनाफा नहीं होता। क्रीम और मलाई निकले दूध को अलग करके दूध का पूरा इस्तेमाल किया जा सकता है और ज़्यादा कमाई की जा सकती है-

  • ज़्यादा मलाई वाली क्रीम (35-40% मलाई) से घी, मक्खन, आइसक्रीम जैसे महंगे उत्पाद बनाए जा सकते हैं।
  • कम मलाई वाला दूध (0.5-1% मलाई) भी पनीर, दही, यॉर्ट, चीज़, मिल्क पाउडर बनाने में काम आता है।
  • औसतन, लगभग 8-12 लीटर दूध से 1 किलो क्रीम मिलती है जिससे घी/मक्खन बनाया जा सकता है। बचा हुआ दूध मलाई निकला दूध होता है।
  • इस तरह, एक लीटर दूध से एक से कई उत्पाद बन जाते हैं, सिर्फ तरल दूध बेचने की बजाय। इससे पूरी कमाई कई गुना बढ़ जाती है।

जानते है बिज़नस को

दूध के कारोबार को सफल बनाने का एक बड़ा रहस्य छिपा है क्रीम सेपरेटर मशीन में! यह कमाल की मशीन न सिर्फ आपके मुनाफे को बढ़ाएगी, बल्कि दूध के इस्तेमाल को भी पूरी तरह से बदल देगी। आइए जानें इसके बेमिसाल फायदे-

अधिक मुनाफा: क्रीम से अलग किए गए माखन, घी, आइसक्रीम जैसे प्रोडक्ट ज़्यादा कीमत पर बिकते हैं। इस तरह, एक ही दूध से ज़्यादा कमाई होती है।

समय की बचत: क्रीम निकालने का काम अब मिनटों में हो जाता है, पुराने तरीकों की तरह घंटों नहीं लगते। ज़्यादा दूध भी आसानी से अलग कर सकते हैं।

बचत ही बचत: मशीन से क्रीम का पूरा निचोड़ निकलता है, कोई बर्बादी नहीं होती। दूध की मात्रा और गुणवत्ता भी बरकरार रहती है।

स्वच्छता का ख़याल: मशीन बंद है, हवा या सीधे हाथों का दूध से संपर्क नहीं होता। इससे शुद्धता और ताज़गी बनी रहती है।

सुविधा का साथ: ज़रूरत के हिसाब से रोज़ाना या ज़्यादा दूध होने पर इस्तेमाल कर सकते हैं। मलाई निकलने तक दूध को स्टोर भी कर सकते हैं।

टिकाऊ और भरोसेमंद: स्टेनलेस स्टील की बॉडी और कम हिलने-डुलने वाले पुर्जे मशीन को लम्बे समय तक चलने का भरोसा देते हैं। रखरखाव भी कम ज़रूरी है।

बिना मेहनत का जादू: मोटर चलने से क्रीम अपने आप अलग हो जाती है, हाथ से मथने या घुमाने की ज़रूरत नहीं पड़ती।

क्रीम सेपरेटर चुनते समय ज़रूरी बातें

  • दूध की मात्रा: बड़ी डेयरियों के लिए बड़े सेपरेटर की ज़रूरत होगी।
  • मटेरियल: स्टेनलेस स्टील लंबे समय तक चलने और आसानी से साफ करने के लिए सबसे अच्छा है।
  • मोटर का पावर: ज़्यादा पावर वाली मशीन सुचारू काम और अच्छी क्रीम अलग करने में मदद करेगी।
  • बाउल का आकार: बड़ा बाउल ज़्यादा दूध को एक बार में अलग कर सकता है।
  • क्वालिटी सर्टिफिकेशन: ISO प्रमाणित ब्रांड अंतरराष्ट्रीय मानक की मशीनें देते हैं।
  • आफ्टर-सेल्स सर्विस: किसी भी तकनीकी सहायता या रखरखाव के लिए ज़रूरी है।
  • वारंटी: कम से कम 1 साल की वारंटी बेहतर है।

कहां से खरीदें क्रीम सेपरेटर

  • ऑनलाइन उनकी वेबसाइट या ई-कॉमर्स प्लेटफॉर्म से खरीद सकते हैं। अक्सर डिस्काउंट और ऑफर मिलते हैं।
  • अपने शहर के नजदीकी डेयरी उपकरण स्टोर या उनके डीलरों से भी जानकारी लें।
  • सीधे निर्माता से खरीदना असली क्वालिटी और वारंटी सुनिश्चित करता है।
  • टेबलटॉप मिनी सेपरेटर 10 हज़ार रुपये से शुरू होकर, बड़ी मशीनों के लिए कीमत बढ़ती है।
  • खरीदने से पहले मशीन का प्रदर्शन और इस्तेमाल करने में आसानी ज़रूर देखें।

निष्कर्ष

तो दोस्तों, अगर आप दूध के कारोबार में आगे बढ़ना चाहते हैं, तो क्रीम सेपरेटर मशीन को अपनाने में देर न करें। यह कम लागत वाली मशीन आपको ज़्यादा मुनाफा कमाने और बेहतर कारोबार चलाने में मदद करेगी।

Disclaimer

यह जो जानकारी हम आप तक पहुंचाते हैं, क्योंकि हमारा उद्देश्य आप तक योजनाओ की जानकारी, उनका स्टेटस एवं जारी लिस्ट को जान सकें एवं चेक कर पाए, लेकिन इस योजना से संबंधित अंतिम फैसला आपका ही अंतिम फैसला होगा, इसके लिए facttalk.in या हमारी कोई भी टीम का मेंबर जिम्मेदार नहीं होगा।

whatsapp group
WhatsApp Group (Join Now) Join Now
Telegram Group (Join Now) Join Now
सभी सरकारी योजना देखेंयहाँ क्लिक करें
वर्तमान भर्तिया देखेंयहाँ क्लिक करें
मुखपृष्ठयहाँ क्लिक करें

नमस्कार साथियों मेरा नाम पुनीत है, Facttalk.in वेबसाइट के माध्यम से आप सभी को नवीनतम सरकारी योजनाओ, भर्तियों, रिजल्ट एवं अन्य के बारे में मेरे द्वारा जानकारी उपलब्ध करवाई जा रही है | आशा है आप सभी को हमारे आर्टिकल पसंद आ रहे होंगे, घन्यवाद

Leave a comment