Business ideas: हर गली शहर, ऑफिस हो या घर, दिन में 2 बार भारी मांग, 80,000 महीने का कमाने का मौका

Business ideas: भारत के हर गाँव शहर में रोटी की रोज़ की ज़रूरत है, करोड़ों लोग खाते हैं! पर रोटी बनाना, वाह क्या मेहनत का काम है! आटा गूंथना, गोले बनाना, बेलना, फिर तवे पर सेंकना, घंटों लग जाते हैं और पसीना छूट जाता है!

पर अब ज़माना बदल चुका है, ज़्यादा मेहनत करने की ज़रूरत नहीं! स्वचालित रोटी मशीनें आ गई हैं, जो पलक झपकते ही ताज़ी-गरम रोटियां बनाकर देती हैं। छोटी दुकान से लेकर बड़े होटल तक, सब इनका इस्तेमाल कर रहे हैं। इससे न सिर्फ़ मेहनत कम हो गई है, बल्कि हर रोटी एक जैसी सुंदर और स्वादिष्ट भी बनती है।

Also read:

Business ideas: कम बजट में आटोमेटिक मशीन

SS इस कारोबार के बड़े नामों में से एक है। वो छोटे घरों से लेकर बड़े होटलों के लिए अलग-अलग तरह की मशीनें बनाते हैं। एक और कंपनी, ss कंपनी, ने तो पूरी तरह बिजली से चलने वाली रोटी मशीन बना दी है, जिसमें गैस की ज़रूरत ही नहीं पड़ती! छोटी जगह में आने वाली मशीनों में वो सबसे आगे हैं।

ऐसे होता है काम

पहला काम तो है आटा गूंथना। बिहारी ज़ंग रहित स्टील की बड़ी-बड़ी आटा गूंथने की मशीनें बनाता है, जो सिर्फ 5 मिनट में 50 किलो आटा गूंथ सकती हैं! ज़ोर लगाने की ज़रूरत नहीं, मशीन ही सब काम कर देती है।

आटा गूंथने के बाद उसे गोलों में बांटना ज़रूरी होता है। बिहारी और कई दूसरी कंपनियों की स्वचालित गोला बनाने वाली मशीनें, सिर्फ आटा डालने से ही एक घंटे में 2000 से ज़्यादा छोटे-छोटे गोल बना देती हैं! आप ये गोल बड़े या छोटे, जैसे चाहें बना सकते हैं।

तो अब जानते हैं कि आगे रोटी कैसे बेलती और सेंकती हैं! अभी और बहुत कुछ मज़ेदार इन्फॉर्मेशन बाकी है!

काम होगा और आसान

रोटी मशीनों की दुनिया में सबसे ज़बरदस्त काम तो रोटी बेलने और सेंकने में हुआ है! बिहारी कंपनी की बिजली और गैस वाली मशीनें गोल-गोल लोइयां लेती हैं, उन्हें पलक झपकते ही बेलती हैं, सेंकती हैं और गरमागरम रोटियां बाहर निकाल देती हैं! गैस वाली मशीनें कम गैस में ज़्यादा रोटियां बनाती हैं और एक घंटे में 1000 से 2000 तक रोटियां बना सकती हैं।

ss कंपनी ने तो ऐसी बिजली वाली रोटी मशीन बना दी है जो गैस की ज़रूरत ही नहीं पड़ती! गरम तवे से वो रोटियां बनाती हैं। विदेश भेजने के लिए भी ये बहुत अच्छी है। बिजली से चलने और पूरी तरह स्वचालित होने के कारण ये भी घंटे में लगभग 1000 रोटियां बना सकती है।

घर में लगा कर करे काम

बड़े होटलों के लिए तो बड़ी मशीनें हैं, लेकिन घर के लिए क्या? छोटी, सुंदर, और कामचलाऊ रोटी मशीनों की भी मांग बहुत है। पॉलिमर कंपनी ने तो माचिस के डब्बे जितनी छोटी रोटी मशीन बना दी है, जो पूरी तरह स्वचालित है! छोटी सी होने के बावजूद ये घंटे में 500 रोटियां बना सकती है और गैस भी कम लेती है। छोटे ठेले वालों के लिए ये बहुत अच्छी है, कहीं भी आसानी से ले जाई जा सकती है।

मज़बूत और टिकाऊ मशीनें

अच्छी रोटी मशीन बनाने वाली कंपनियां ध्यान देती हैं कि मशीन मज़बूत हो, सालों चले और बिगड़े नहीं। इसलिए ज़्यादातर मशीनें स्टील की बनती हैं। स्वचालित तरीके से रोटी बनाने से हर रोटी एक जैसी स्वादिष्ट बनती है, खराब होने का डर भी कम होता है।

कुछ लोगों को मशीन चलाने में दिक्कत हो सकती है, इसलिए बड़ी कंपनियों की पूरे भारत में मज़बूत सर्विस नेटवर्क है, जो मशीन ठीक करने और देखभाल करने में मदद करती हैं।

तो अगर आप भी सोच रहे हैं कि रोटी बनाने में मेहनत कम करनी है, स्वाद बढ़ाना है, तो ज़रूर इन कमाल की रोटी मशीनों के बारे में सोचिए! आपको ज़रूर पसंद आएंगी!

ये है कीमत

पहले तो रोटी मशीनें सोने का सपना लगती थीं, लाखों खर्च हो जाते थे! पर अब खुशखबरी है, देश में ही बनने और ज़्यादा कंपनियों के आने से ये ज़्यादा किफायती हो गई हैं। साधारण रोटी मशीनें 35,000 रुपये से मिलने लगी हैं, छोटी टेबलटॉप मशीनों का तो दाम सिर्फ 15,000 रुपये के आसपास है!

इतनी कम कीमत की वजह से छोटे ढाबे, ठेले वाले, कैंटीन और अब तो ज़्यादा घरों में भी ये मशीनें दिखने लगी हैं। ज़्यादा रोटियां ज़ल्दी बन जाती हैं, हाथ-पांव नहीं चलते, तो कम खर्च होता है और मुनाफा ज़्यादा होता है। कुछ ही महीनों में मशीन का खर्च निकल आता है, ये धंधा तो कमाल का है, खूब तरक्की करने की उम्मीद है!

निष्कर्ष

ऑटोमेटिक रोटी मशीनें हमारे रसोई-घरों में बड़ा बदलाव ला रही हैं। बिहारी और पॉलिमर जैसी कंपनियों की नई-नई मशीनें रोटी बनाना आसान, तेज और बिल्कुल एक जैसा बना रही हैं। छोटी मशीनों की वजह से ये अब घरों तक भी पहुंच गई हैं। अच्छी क्वालिटी, बढ़िया सर्विस और किफायती कीमत के साथ, रोटी मशीन इंडस्ट्री का भविष्य बहुत उज्ज्वल दिख रहा है

Disclaimer

यह जो जानकारी हम आप तक पहुंचाते हैं, क्योंकि हमारा उद्देश्य आप तक योजनाओ की जानकारी, उनका स्टेटस एवं जारी लिस्ट को जान सकें एवं चेक कर पाए, लेकिन इस योजना से संबंधित अंतिम फैसला आपका ही अंतिम फैसला होगा, इसके लिए facttalk.in या हमारी कोई भी टीम का मेंबर जिम्मेदार नहीं होगा।

whatsapp group
WhatsApp Group (Join Now) Join Now
Telegram Group (Join Now) Join Now
सभी सरकारी योजना देखेंयहाँ क्लिक करें
वर्तमान भर्तिया देखेंयहाँ क्लिक करें
मुखपृष्ठयहाँ क्लिक करें

नमस्कार साथियों मेरा नाम पुनीत है, Facttalk.in वेबसाइट के माध्यम से आप सभी को नवीनतम सरकारी योजनाओ, भर्तियों, रिजल्ट एवं अन्य के बारे में मेरे द्वारा जानकारी उपलब्ध करवाई जा रही है | आशा है आप सभी को हमारे आर्टिकल पसंद आ रहे होंगे, घन्यवाद

2 thoughts on “Business ideas: हर गली शहर, ऑफिस हो या घर, दिन में 2 बार भारी मांग, 80,000 महीने का कमाने का मौका”

Leave a comment